Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी

Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी – इस पाठ में संस्कृत के सुंदर वचनों का संग्रह है|

 
 
 
 
 
Class 7 Sanskrit Chapter 1
 
Solutions for Class 7th Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Class 7th Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी hindi translation
 
 
 
 

Summary Explanation in Hindi

Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी

इस पाठ में संस्कृत के सुंदर वचनों का संग्रह है|
प्रथम श्लोक में अच्छे वचनों का महत्व बताया गया है |
• पृथ्वी पर जल और सुंदर वचन यह तीन ही रत्न हैं | मूर्खों के द्वारा पत्थर के टुकड़ों में रत्नों को समझा जाता है |
 
•दूसरे श्लोक में सत्य का गुणगान बताया गया है|
इस संसार में सत्य पर ही पृथ्वी टिकी है ,सत्य के द्वारा ही सूर्य तपता है, सत्य के द्वारा ही वायु बहती है ,सारा संसार सत्य पर ही स्थित है|
 
• तीसरे श्लोक में पृथ्वी के अनेक रत्नों के बारे में बताया गया है |
दान में ,तप में, बल में, विज्ञान में , नम्रता में ,नीति में ,आश्चर्य नहीं करना चाहिए क्योंकि निश्चय ही पृथ्वी अनेक रत्नों वाली है |
 
• चौथे श्लोक में सज्जन पुरुषों की महिमा के बारे में बताया गया है-
अच्छे लोगों के साथ ही बैठना चाहिए ,अच्छे लोगों से ही संगति करनी चाहिए ,अच्छे लोगों के साथ ही झगड़ा या दोस्ती करनी चाहिए और दुष्ट लोगों के साथ कुछ भी आचरण नहीं करना चाहिए |
 
• पांचवी श्लोक में कहा गया है कि ज्ञान के संचय में यानी कि ज्ञान को जुटाने में धन और धान्य को प्रयोग करने में तथा भोजन और व्यवहार में संकोच को छोड़ने वाला व्यक्ति सुखी होता है|
•छठे श्लोक में क्षमा यानी माफी का महत्व बताया गया है |
क्षमा से हर चीज सिद्ध हो सकता है |  जिस व्यक्ति के पास क्षमा रूपी तलवार है दुष्ट उसका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता है | इसलिए संसार में क्षमा वशीकरण है |

Summary Explanation in English

Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी

 
 This lesson is a collection of beautiful words of Sanskrit.
The importance of good words is given in the first verse.
• Water and beautiful words on Earth are the three gems. Gems are considered in stone pieces by fools.
 
• In the second stanza, the praise of truth has been told.
In this world, the earth is fixed on the truth only, through the truth, the sun roams, the air flows through the truth, the whole world is situated on the truth.
 
• In the third stanza, many gems of the earth have been told.
In charity, in tenacity, in force, in science, in humility, in the policy, should not be surprised, because of course the earth is with many gems.
 
• Fourth stanza has been told about the glory of gentle men-
Should sit well with the good people, associate with the good people, fight with good people, fight or friendship, and should not behave with the evil people.
 
• In the fifth verse it has been said that in the accumulation of knowledge i.e., the person who is willing to use the money and the grain to gather knowledge and leave the suspicion in food and behavior is happy.
• In the sixth verse, the importance of forgiveness is expressed.
Everything can be proven by forgiveness. The person who has a pardoned sword can not spoil anything. Therefore, forgiveness is in the world.
 
 
 
Watch Video – Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी  for Ncert Solution 
 
 

 
Must watch the above video for ncert exercise solution of Class 7 Sanskrit Chapter 1 – सुभाषितानी….
Thanks for visiting this site….

About the Author: Make toss

47 Comments

      1. I loved it. please prefer this website. It helped me a lot for my exams. I got 98% because of it.Thank you.Keep it up. excellent job done. Fabulous

    1. AJAY
      sir…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

  1. I loved it. please prefer this website. It helped me a lot for my exams. I got 98% because of it.Thank you.Keep it up. excellent job done. Fabulous

  2. yes excellent explanation. no words to express the content so useful to we students.
    Thank you for this wonderful and useful website

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: