India's Largest Free Online Education Platform

class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयाम

class 7 sanskrit chapter 9 – विमानायं रचयाम में हम पढ़ने वाले हैं – एक संस्कृत कविता को जिसमें चार पद्य हैं | इसमें बताया गया है कि कैसे हम विमान को बनाएं और उड़ाएं | तो चलिए इस class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयाम पाठ को ही पढ़ लेते हैं |class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयामclass 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयामclass 7 sanskrit chapter 9class 7 sanskrit chapter 9

 

Download PDF

Download PDF(class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयाम ) in only one click …click here

 

class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयाम Hindi Summary

प्रथम श्लोक में बताया गया है कि आओ हम सभी विमान यानी जहाज को बनाते हैं | और हम इस बड़े-निर्मल आकाश में वायु यात्रा करते हैं |

द्वितीय श्लोक में बताया गया है कि आओ अब हम ऊंचे-ऊंचे वृक्षों को, ऊंचे-ऊंचे भवनों को पार करके आकाश में उड़ चलें| हम हिमालय पर्वत को सीढ़ी बना लें और चांद पर पहुंच जाएं|

मगर इन बच्चों को यह नहीं पता है कि चांद कितना दूर है | अगर हिमालय को भी सीढ़ी बना ले ना तू भी चांद की दूरी का 1/10 दूरी तक नहीं पहुंच पाएंगे |और कागज की जहाज पर उड़ेंगे कैसे?

तृतीय श्लोक में बताया गया है कि आओ हम सभी ग्रहों जैसे – गुरु-शुक्र आदि ग्रहों को गिने | सूर्य, चंद्र और सुंदर ताराओं को चुनकर मोतियों का हार बना ले |

चतुर्थ श्लोक में बताया गया है कि जब हम आकाश मार्ग से वापस घूम कर आए , तो बादलों को साथ लेकर आए और वह बादल पृथ्वी पर बरस जाए | इस प्रकार सारे दु:खी किसानों की फसलें अच्छी हो जाए और वे खुशी के साथ जिए |

तो इस प्रकार यह पाठ खत्म हो जाता है|

class 7 sanskrit chapter 9- विमानायं रचयाम English Summary

In the first stanza, it is said that let us make all the aircraft ie ships of ships. And we travel in this vast sky in the air.

It is told in the second stanza that let us now fly high and tall trees, cross the tall buildings and fly in the sky. Let us make the Himalaya Mountains a staircase and reach the moon.

But these children do not know how far the moon is. Even if you make the Himalaya a ladder, you will not be able to reach the distance of the moon by 1/10 and how will you fly on paper ship?

In the third verse it is said that let us count all the planets like Guru-Venus. Choose the sun, moon and beautiful stars and make a pearl necklace.

It is said in the fourth stanza that when we come back from the sky path, then bring the clouds together and that cloud will rain on the earth. In this way, all the sad farmers will get good crops and they will live happily.

So this type of text ends.

 

9 Comments

  1. Sir,
    I am a K.V student
    Chapter 9 vidyalayam rachayam have been changed to ahamapi vidyalayam gamishyami. Can you pls upload the translation of that chapter.

    Thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!