English -Class 7 – Chapter 2 – A GIFT OF CHAPPALS – Chapter Summary

SUMMARY (English)

Mirdu is a young girl living with her Tapi (grandmother) and Thatha (grandfather) in Madras. She went to her aunt Rukku Manni’s house along with Tapi to meet her cousins Lalli, Ravi, and Meena. As she reached Rukku Manni’s house, Ravi pulled Mridu into the house to which she protested. Mirdu took off her slippers and set them near a pair of large black ones. Ravi dragged her to the backyard, behind a thick bitter-berry bush. There was a small kitten inside a torn football who was busy drinking milk from a coconut half-shell.

Ravi explains how he found the poor kitten and how hard it is to get a little milk from the kitchen. Ravi named the kitten Mahendravarma Pallava Poonai, M.P. Poonai in short. He further continues how the kitten is a descendent of Mahabalipuram Rishi-Cat! who was descended of Egyptian cat-god!😀 As he keeps talking about the kitten, they were distracted by a ‘kreeching’ sound and the frightened kitten ran to hide. Ravi tells Mridu that his sister Lalli is learning to play the violin which she will never learn.😥😃 Mirdu crept up to the window and saw Lalli sitting in an awkward position holding her violin and the music-master facing his back to the window who had a mostly bald head with a fringe of oiled black hair, a gold chain around his neck, and a diamond ring.

A beggar showed up there who was also a regular visitor to Rukku Manni’s house. Rukku Manni got fed up and asked him not to come again. The beggar showed the children his large, pink, peeling blister on the soles of his feet. 😥😥😥 Mridu suggests Meena and Ravi search for an old pair of chappals in the house. While searching for the chappals, Mirdu once again notices that old pair of black chappals. She asks Ravi about the belonging of that chappal to which he was not aware. Ravi picks them up and gives them to the beggar. The beggar, pleased with the chappals blesses the children and leaves.

After a while, the music master came out and found his chappals missing.😃😃😊 He called Lalli and informed her about the missing chappals, both searched the chappals all around the house. Soon Lalli informs her mother about the missing chappals and it was confirmed that the children gave the music master’s chappal to the beggar.✌️ Rukku Manni gave Gopu Mama’s hardly worn chappals to the music master, he accepts them and leaves. After the music-master leaves, Rukku Manni takes Mirdu to the kitchen for the tiffin. Rukku Manni’s anger got vanished with her laugh, thinking what Gopu Mama would say on knowing that she gave his chappals to the music master.😊😊😃😀

SUMMARY (Hindi)

मृदु मद्रास में अपनी तापी (दादी) और थाथा (दादा) के साथ रहने वाली एक युवा लड़की है। वह अपनी तापी (दादी) के साथ अपनी मौसी रुक्कू-मन्नी के घर अपने चचेरे भाई-बहन – लल्ली, रवि और मीना से मिलने गई थी। जैसे ही वह रुक्कू-मन्नी के घर पहुंची, रवि ने मृदु को घर में खींच लिया, जिसका उसने विरोध किया। मृदु ने अपनी चप्पल उतार दी और उन्हें ‘एक जोड़ी बड़े काले रंग की चप्पल’ के पास रख दिया। रवि मृदु को घसीटते हुए पिछवाड़े में एक मोटी कड़वी-बेरी के झाड़ी के पीछे ले गया। फटी हुई फ़ुटबॉल के अंदर एक छोटा बिल्ली का बच्चा था जो नारियल के आधे खोल से दूध पीने में व्यस्त था।

रवि बताता है कि कैसे उसे बेचारा बिल्ली का बच्चा मिला और रसोई से थोड़ा सा दूध लाना कितना मुश्किल है। रवि ने बिल्ली के बच्चे का नाम महेंद्रवर्मा पल्लव पूनई रखा था। संक्षेप में एम.पी. पूनई। वह आगे कहता है कि कैसे बिल्ली का बच्चा महाबलीपुरम ऋषि-बिल्ली का वंशज है! जो मिस्र के बिल्ली-देवता के वंशज थे! 😀जब वह बिल्ली के बच्चे के बारे में बात कर रहा था, वे एक कर्कश आवाज से विचलित हो जाते हैं तथा भयभीत बिल्ली का बच्चा भी छिपने के लिए भागता है। रवि मृदु से कहता है कि उसकी बहन लल्ली वायलिन बजाना सीख रही है जो वह कभी नहीं सीखेगी।😥😃
मृदु खिड़की के पास गयी और देखी कि लल्ली एक अजीब स्थिति में अपने वायलिन को पकड़े हुए बैठी है और उसके संगीत-गुरु खिड़की की ओर अपनी पीठ का सामना करते हुए बैठे हैं रहा है, जिसके सिर ज्यादातर गंजे पर तेल से सने हुए काले बाल, गले में सोने की चेन और हीरे की अंगूठी है।

वहाँ एक भिखारी दिखाई दिया जो रूक्कू-मन्नी के घर पर नियमित रूप से आया करता था। रूक्कू-मन्नी अब तंग आ गई और उसे दोबारा न आने के लिए कहा। भिखारी ने अपने बच्चों के पैरों के तलवों पर उनके बड़े, गुलाबी, छीला हुआ छाला दिखाया।😥😥😥 मृदु, ‘मीना और रवि’ को घर में एक पुरानी जोड़ी चप्पल खोजने का सुझाव देती है। चप्पलों की खोज करते समय, मृदु एक बार फिर उसी पुरानी जोड़ी काली चप्पलों की ओर देखती है। वह रवि से उस चप्पल के बारे में पूछती है जिसके बारे में उसे भी जानकारी नहीं थी। रवि उन्हें उठाकर भिखारी को दे देता है। भिखारी चप्पलों से प्रसन्न होकर बच्चों को आशीर्वाद देता है और चला जाता है।

थोड़ी देर बाद संगीत- शिक्षक बाहर आये तो उन्होंने देखा कि उसकी चप्पलें गायब हैं।😃😃😊 उसने लल्ली को बुलाकर लापता चप्पलों की जानकारी दी, दोनों ने घर के चारों ओर चप्पलें खोजी। जल्द ही लल्ली ने अपनी माँ को गुमशुदा चप्पलों के बारे में सूचित किया और यह पुष्टि हो गई कि बच्चों ने संगीत-गुरु की चप्पल भिखारी को दे दी है।✌️रूक्कू-मन्नी ने संगीत-गुरु को गोपू मामा की ना के बराबर पहनी हुई चप्पलें दीं। वह उन्हें स्वीकार करते हैं और चले जाते हैं। संगीत-गुरु के जाने के बाद, रुक्कू-मन्नी मृदु को टिफिन के लिए रसोई में ले जाती है। रूक्कू-मन्नी का गुस्सा उसकी हंसी के साथ गायब हो जाती है, यह सोचकर कि गोपू मामा यह जानकर क्या कहेंगे कि उसने संगीत-गुरु को उनकी चप्पलें दे दी हैं।😊😊😃😀

👍👍👍

About the Author: MakeToss

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: