Hindi – Class 7 – Chapter 6 – रक्त और हमारा शरीर – NCERT Exercise Solution (Question-Answer)

पाठ से

प्रश्न 1. रक्त के बहाव को रोकने के लिए क्या करना चाहिए।

उत्तर- रक्त के बहाव को रोकने के लिए जिस स्थान से रक्त का बहाव हो रहा है उस स्थान को कसकर एक साफ़ कपड़ा से बाँध देना चाहिए क्योंकि दबाव पड़ने से रक्त का बहना कम हो जाता है। फिर भी यदि रक्त का बहाव हो ही रहा हो तो तुरन्त ही डाक्टर के पास उपचार के लिए मरीज़ को लेकर जाना चाहिए।

प्रश्न 2. खून को ‘भानुमती का पिटारा’ क्यों कहा जाता है? 

उत्तर- खून को ‘भानुमती का पिटारा’ (अर्थात एक पिटारे में भाँति-भाँति की वस्तुएँ) कहा गया है क्योंकि खून में लाखों की संख्या में लाल रक्त-कण मौजूद होते हैं, वह दिखने में तो द्रव की भांति प्रतीत होता है परन्तु उसके अंदर एक अलग दुनिया का ही प्रतिबिम्ब होता है। रक्त दो भागों में विभाजित होता है – एक भाग तरल रूप में होता है जिसे हम प्लाज़्मा कहते हैं, दूसरे भाग में हर प्रकार व आकार के कण होते हैं जैसे -कुछ सफ़ेद, कुछ लाल, और कुछ रंगहीन।

प्रश्न 3. एनीमिया से बचने के लिए क्या-क्या खाना चाहिए?

उत्तर- एनीमिया से बचने के लिए हमें पौष्टिक भोजन का सेवन करना चाहिए क्योंकि जब हमारे शरीर को सही मात्रा में तथा उचित पौष्टिक आहार नहीं मिल पाता है तो हमारे शरीर में रक्त का निर्माण होना बन्द हो जाता है। शरीर में रक्त की कमी होने लगती है और रक्त में होने वाली लाल-कणों की इसी कमी को एनीमिया कहते हैं। हमें हरी सब्जी, फल, दूध, अंडा, तथा सभी प्रकार के प्रोटीन, लौह तत्व और विटामिन से युक्त भोजन का सेवन करना चाहिए क्योंकि ये सभी रक्त के निर्माण में सहायक होते हैं, जिससे एनीमिया रोग होने का खतरा टल जाता है।

प्रश्न 4. पेट में कीड़े क्यों हो जाते हैं? इनसे कैसे बचा जा सकता है।

उत्तर- पेट में कीड़े हमारे द्वारा ग्रहण किये गए दूषित जल और खाद्य पदार्थों के माध्यम से हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं। इनसे बचने के लिए हमें शौचालय का इस्तेमाल करने के बाद साबुन से भली-भाँति हाथ धोना चाहिए , बाहर का खाना व दूषित पानी नहीं पीना चाहिए, नंगे पाँव नहीं घूमना चाहिए, आदि।

प्रश्न 5. रक्त के सफ़ेद कणों को ‘वीर सिपाही’ क्यों कहा गया है?

उत्तर- रक्त के सफ़ेद कणों को वीर सिपाही इसलिए कहा गया है, क्योंकि यह हमारे शरीर में घर बना रहे रोगाणु से हमारी रक्षा करता है। यह रक्त हमारे शरीर में रोगाणु से वीर सिपाही के जैसे लड़ते है तथा जहाँ तक संभव हो ये कार्यक्षमता को शिथिल कर हमें सुरक्षा प्रदान करते हैं।

प्रश्न 6. ब्लड-बैंक में रक्तदान से क्या लाभ है?

उत्तर- ब्लड-बैंक में दान दिए गए रक्त को आवश्यकता अनुसार उपयोग किया जाता है। इसका उद्देश्य यह है कि जब किसी भी मरीज़ को रक्त की आवश्यकता हो तब उसकी रक्त की आपूर्ति कराई जा सके। हर मनुष्य का रक्त एक सा नहीं होता, ब्लड बैंक में सभी प्रकार के रक्त उपलब्ध होते है जो जरुरतमंद की सहायता करते हैं। अर्थात हमें रक्त दान करनी चाहिए क्योंकि आपातकालीन स्थिति में जरूरतमंद व्यक्ति की जान बचाने में ब्लड-बैंक में किया हुआ रक्तदान काम आता है।

प्रश्न 7. साँस लेने पर शुद्ध वायु से जो ऑक्सीजन प्राप्त होती है, उसे शरीर के हर हिस्से में कौन पहुँचाता है

सफ़ेद कण लाल कण फेफड़े साँस नली

उत्तर- साँस लेने पर शुद्ध वायु से जो ऑक्सीजन प्राप्त होती है, उसे शरीर के हर हिस्से में लाल कण पहुँचाते हैं।

पाठ से आगे

प्रश्न 1. रक्त में हीमोग्लोबिन के लिए किस खनिज की आवश्यकता पड़ती है-

जस्ता लोहा शीशी प्लैटिनम

उत्तर- लोहा।

प्रश्न 2. बिंबाणु (प्लेटलैट कण) की कमी किस बीमारी में पाई जाती है-

टायफ्रायड डेंगू मलेरिया फ़ाइलेरिया

उत्तर- डेंगू।

भाषा की बात

प्रश्न 1.
(क) चार महीने के होते-होते ये नष्ट हो जाते हैं
इस वाक्य को ध्यान से पढ़िए। इस वाक्य में ‘होते-होते’ के प्रयोग से यह बताया गया है कि चार महीने से पूर्व ही ये नष्ट हो जाते हैं। इस तरह के पाँच वाक्य बनाइए जिनमें इन शब्दों का प्रयोग हो-

बनते-बनते, पहुँचते-पहुँचते, लेते-लेते, करते-करते

उत्तर-

बनते-बनते : यह सड़क बनते-बनते टूट गया।
पहुँचते-पहुँचते : स्टेशन पहुंचते-पहुँचते रेलगाड़ी खुल गई ।
लेते-लेते : राम कार लेते-लेते रह गया।
करते-करते : राम कार्य करते-करते थक गया।

(ख) इन वाक्यों को पढ़िए –

सड़क के किनारे-किनारे पेड़ लगे हैं।
आज दूर-दूर तक वर्षा होगी।

  • इन वाक्यों में होते-होते’ की तरह ‘किनारे-किनारे’ और ‘दूर-दूर’ शब्द दोहराए गए हैं। पर हर वाक्य में अर्थ भिन्न है। किनारे-किनारे का अर्थ है-किनारे से लगा हुआ और दूर-दूर का बहुत दूर तक।
  • आप भी निम्नलिखित शब्दों का प्रयोग करते हुए वाक्य बनाइए और उनके अर्थ लिखिए

ठीक-ठीक, घड़ी-घड़ी, कहीं-कहीं, घर-घर, क्या-क्या

उत्तर-

ठीक-ठीक (एकदम सही) : राम ठीक-ठीक लिख लेता है।
घड़ी-घड़ी (हर पल) : वह घरी-घरी मुझपर गुस्सा करता है।
कहीं-कहीं (कुछ जगहों पर) : यह सड़क कहीं-कहीं पर टूटी हुई है।
घर-घर (हर घर में) : आज घर-घर में शौचालय है।
क्या-क्या (कौन सी) : भास्कर को इस पुस्तक के अलावा और क्या-क्या चाहिए।

प्रश्न 2. इस पाठ में दिए गए मुहावरों और कहावतों को पढ़िए और वाक्यों में प्रयोग कीजिए-

भानुमती का पिटारा, दस्तक देना, धावा बोलना, घर करना, पीठ ठोकना ।

उत्तर-

भानुमती का पिटारा (कभी न खत्म होने वाला) – राम के दिमाग में हमेशा भानुमती के पिटारे की तरह तरक़ीब आती रहती है।
दस्तक देना (खटखटाना) – सुमन ने आज बहुत दिन बाद मेरे दरवाज़े पर दस्तक दी है।
धावा बोलना (आक्रमण करना) – दुश्मन ने आज भारत के सीमा पे धावा बोल दिया है।
घर करना (समझ में आना) – भास्कर की बात मेरे दिमाग को हमेशा घर कर जाती है।
पीठ ठोकना (शाबासी देना) – पिता ने अपने पुत्र की पीठ ठोकी।

👍👍👍

About the Author: MakeToss

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error:
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.