Hindi – Class 7 – Chapter 7 – पापा खो गए – NCERT Exercise Solution (Question-Answer)

नाटक से

प्रश्न 1. नाटक में आपको सबसे बुद्धिमान पात्र कौन लगा और क्यों?

उत्तर- नाटक में सबसे बुद्धिमान पात्र कौआ का लगा क्योंकि वो अपनी सूझ-बूझ लड़की के पापा को ढूंढने का उपाय बताया। वह समाज के सभी घटनाओं की जानकारी रखता है तथा अच्छे-बुरे लोगों की उसे पहचान भी है।

प्रश्न 2. पेड़ और खंभे की दोस्ती कैसे हुई ?

उत्तर- शुरुआत में खंभा अपनी अकड़ के कारण पेड़ से नहीं बोलता था जबकि दोनों पास में ही खड़े थे। फिर एक दिन बहुत ज़ोरों की आंधी आती है उस समय खंभा पेड़ के ऊपर गिरने से खुद को रोक नहीं पाता है । उस वक्त पेड़ स्वयं ज़ख्मी होकर खंभे को संभालता है । इसी कारण खंभे का अकड़ भी खत्म हो जाता है दोनों में दोस्ती हो जाती है।

प्रश्न 3. लैटरबक्स को सभी लाल ताऊ कहकर क्यों पुकारते थे?

उत्तर- लैटरबक्स को सभी लाल ताऊ कहकर पुकारते थे क्योंकि वह ऊपर से नीचे तक पूरा सिर्फ़ लाल रंग का था।

प्रश्न 4. लाल ताऊ किस प्रकार बाकी पात्रों से भिन्न है?

उत्तर- लाल ताऊ अन्य पात्रों से भिन्न है क्योंकि उसे पढ़ना-लिखना आता है जबकि बाकी पात्रों में से किसी को भी लिखना या पढ़ना नहीं आता है। वह एक समाज सेवक के भाँति समाज की चिंताएँ करता है।

प्रश्न 5. नाटक में बच्ची को बचानेवाले पात्रों में केवल एक सजीव पात्र है। उसकी कौन-कौन-सी बातें आपको मजेदार लगी? लिखिए।

उत्तर- नाटक में बच्ची को बचाने वाले पात्रों में कौआ ही एक मात्र सजीव पात्र है। उसकी मज़ेदार बातें इस प्रकार प्रकार हैं-
दुष्ट आदमी से बच्ची को बचाने के लिए वही सबसे पहले भूत-भूत चिल्लाता है।
जब वह बोलता है- ”वह दुष्ट है कौन? पहले उसे नज़र तो आने दीजिए।”
आदि।

प्रश्न 6. क्या वजह थी कि सभी पात्र मिलकर भी लड़की को उसके घर नहीं पहुँचा पा रहे थे?

उत्तर- सभी पात्र मिलकर भी लड़की को उसके घर पर नहीं पहुँचा पा रहे थे क्योंकि लड़की बहुत ही छोटी तथा अबोध थी जिसे न अपने माता-पिता का नाम मालूम था न ही घर का पता। ऐसी परिस्थिति में उसे यथाशीघ्र घर तक पहुँचाना संभव नहीं था।

नाटक से आगे

प्रश्न 1. अपने-अपने घर का पता लिखिए तथा चित्र बनाकर वहाँ पहुँचने का रास्ता भी बताइए।

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

प्रश्न 2. मराठी से अनूदित इस नाटक का शीर्षक ‘पापा खो गए’ क्यों रखा गया होगा? अगर आपके मन में कोई दूसरा शीर्षक हो तो सुझाइए और साथ में कारण भी बताइए।

उत्तर- मराठी से अनूदित इस नाटक का शीर्षक ‘पापा खो गए’ इसलिए रखा गया, क्योंकि लड़की बहुत ही छोटी तथा अबोध थी जिसे न अपने माता-पिता का नाम मालूम था न ही घर का पता।
अन्य शीर्षक “छोटी बच्ची खो गयी” रखा जा सकता है क्योंकि वास्तव में बच्ची ही खोई थी।

प्रश्न 3. क्या आप बच्ची के पापा को खोजने का नाटक से अलग कोई और तरीका बता सकते हैं?

उत्तर-छात्र स्वयं करें।

अनुमान और कल्पना

प्रश्न 1. अनुमान लगाइए कि जिस समय बच्ची को चोर ने उठाया होगा वह किस स्थिति में होगी? क्या वह पार्क/ मैदान में खेल रही होगी या घर से रूठकर भाग गई होगी या कोई अन्य कारण होगा?

उत्तर- पाठ के अनुसार जब बच्ची को चोर ने उठाया था तब वह सो रही थी।

प्रश्न 2. नाटक में दिखाई गई घटना को ध्यान में रखते हुए यह भी बताइए कि अपनी सुरक्षा के लिए आजकल बच्चे क्या क्या कर सकते हैं? संकेत के रूप में नीचे कुछ उपाय सुझाए जा रहे हैं। आप इससे अलग कुछ और उपाय लिखिए।

  • समूह में चलना
  • एकजुट होकर बच्चा उठाने वालों या ऐसी घटनाओं का विरोध करना
  • अनजान व्यक्तियों से सावधानीपूर्वक मिलना।

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

भाषा की बात

प्रश्न 1. आपने देखा होगा कि नाटक के बीच-बीच में कुछ निर्देश दिए गए हैं। ऐसे निर्देशों से नाटक के दृश्य स्पष्ट होते हैं, जिन्हें नाटक खेलते हुए मंच पर दिखाया जाता है, जैसे सड़क/रात का समय, दूर कहीं कुत्तों की भौंकने की आवाज़। यदि आपको रात का दृश्य मंच पर दिखाना हो तो क्या, क्या करेंगे, सोचकर लिखिए।

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

प्रश्न 2. पाठ को पढ़ते हुए आपका ध्यान कई तरह के विराम-चिह्नों की ओर गया होगा। नीचे दिए गए अंश से विराम चिह्नों को हटा दिया गया है? ध्यानपूर्वक पढ़िए तथा उपयुक्त चिह्न लगाइए।
मुझ पर भी एक रात आसमान से गड़गड़ाती बिजली आकर पड़ी थी अरे बाप रे वो बिजली थी या आफत याद आते ही अब भी दिल धक धक करने लगता है और बिजली जहाँ गिरी थी वहाँ खड्डा कितना गहरा पड़ गया था खंभे महाराज अब जब कभी बारिश होती है और तो मुझे उस रात की याद हो आती है अंग थर-थर काँपने लगते हैं।

उत्तर- मुझ पर भी एक रात आसमान से गड़गड़ाती बिजली आकर पड़ी थी। अरे बाप रे! वो बिजली थी या आफ़त; याद आते ही अब भी दिल धक-धक करने लगता है और बिजली जहाँ गिरी थी, वहाँ खड्डा कितना गहरा पड़ गया था। खंभे महराज! अब जब कभी बारिश होती है तो मुझे उस रात की याद आती है, अंग थरथर काँपने लगते हैं।

प्रश्न 3. आसपास की निर्जीव चीज़ों को ध्यान में रखकर कुछ संवाद लिखिए, जैसे

  • चॉक का ब्लैक बोर्ड से संवाद
  • कलम का कॉपी से संवाद
  • खिड़की का दरवाज़े से संवाद

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

प्रश्न 4. उपर्युक्त में से दस-पंद्रह संवादों को चुनें, उनके साथ दृश्यों की कल्पना करें और एक छोटा सा नाटक लिखने का प्रयास करें। इस काम में अपने शिक्षक से सहयोग लें।

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

About the Author: MakeToss

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: